अपनी ज़िन्दगी से कोई शिकायत है तो इनकी ज़िन्दगी पे नज़र डालिये अपनी मुशिकलें आसान लगेंगी. हम बात कर रहे हैं कोलकाता के सोनागाछी में सेक्स वर्कर्स के बारे में. ये जगह हाल ही में चर्चा का विषय बानी जब स्वच्छ भारत अभियान के तहत नुक्कड़ नाटक कर लोगों को जागरूक किया. आपको बता दें कि कोलकाता का ये इलाका बदनाम गलियों में गिना जाता है. इस रेड लाइट एरिया में महिलाओं की मुश्किल जिंदगी को दिखाती तस्वीरें सामने आ चुकी हैं.

भारत में देह व्यापर बड़े ज़ोरों पर है. इन रेड लाइट्स में रहने वाली लड़कियां या तो मजबूरी में वहां रहती हैं या जबरदस्ती उन्हें इसमें धकेला जाता है. पश्चिम बंगाल का सोनागाछी का रेड लाइट एरिया भी प्रॉस्टिट्यूशन के लिए मशहूर है. आपको जानकार हैरानी होगी की यहां करीब 15 हजार महिलाएं सेक्स वर्कर बन अपनी जिंदगी बिता रही हैं.

ये भी पढ़िए   आज यश चोपड़ा के 85वें जनम दिवस पर पेश हैं उनकी कुछ बेहतरीन फिल्में । देखिये कोनसी हैं वह फिल्में ।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यहाँ महिलाएं एवरेज 2 डॉलर यानी करीब 128 रुपए प्रति कस्टमर से कमेटी हैं. ज़िन्दगी बदहाल है. इनकी लाचारी और गरीबी ने इन्हे इस दलदल में फसा रखा है. रिपोर्ट के मुताबिक, हर साल यहां करीब एक हजार महिलाएं आती हैं. यहां रहने वाली महिलाएं छोटे-छोटे कमरों में जिंदगी बिताती हैं. दखिये कुछ चुंनिदा तसवीरें जो ब्यान करती हैं इन औरतों की बदहाली और लाचारी.