तो इस वजह से बिकने जा रहा है 70 साल पुराना आर के स्टूडियो (RK Studio)

जिस कपूर खानदान से बॉलीवुड फिल्मों की शुरुआत हुई उनके परिवार में एक नई बहस छिड़ गई है जहां पर बहुत सारे सवाल खड़े किए जा रहे हैं कि आखिरकार आर के स्टूडियो को बेचा क्यों जा रहा है. बॉलीवुड के इतिहास में आर के स्टूडियो का बहुत ज्यादा महत्व रहा है. हिंदी फिल्मों के पुराने दशकों के इतिहास में आर के स्टूडियो ने बहुत ही यादगार लम्हे बिताए हैं. कपूर परिवार के लिए आर के स्टूडियो का सफर 70 साल पुराना है, लेकिन अब यह रिश्ता शायद अलग होने वाला है क्योंकि आर के स्टूडियो को बेचने का फैसला ले लिया गया है.

selling rk studio

इसके पीछे वजह पूछे जाने पर कपूर खानदान का कहना था कि पिछले साल इस स्टूडियो में किसी टीवी शो की शूटिंग के दौरान आग लग गई थी जिसके बाद सलाहकारों का कहना था कि इसे एक बार पुनर्निर्माण करा लेना चाहिए, लेकिन इन सब में काफी ज्यादा खर्च होने की संभावना है और वैसे भी इस स्टूडियो में फिल्मों की शूटिंग हुए काफी साल हो गए हैं. रिकॉर्ड की बात करें तो आर के स्टूडियो में पिछली बार फिल्म ‘आ अब लौट चलें’ की शूटिंग हुई थी जिसे काफी साल हो गए हैं.

देश के आजाद होने के एक साल बाद ही सन 1948 में हिंदी सिनेमा के मशहूर अभिनेता राज कपूर ने मुंबई के चेंबूर में आर के स्टूडियो की स्थापना की थी जिसके बाद हमारे देश में फिल्मों का एक नए दौर की शुरुआत हो गई थी. इस स्टूडियो में अब तक कई सारी फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है. इसके अलावा यह स्टूडियो काफी सारी फिल्मों के लिए भाग्यशाली माना जाता रहा है. आज की स्थिति की बात करें तो पिछले साल 16 सितंबर को Sony टेलीविजन पर आने वाला ‘सुपर डांसर’ टीवी शो की शूटिंग यहां पर चल रही थी जिसके बीच एक भयानक आग लग गई. हालांकि घटना के दौरान किसी भी तरह की हताहत का खबर सामने नहीं आई लेकिन इसके बाद इस स्टूडियो में काफी नुकसान हुआ है.

किसका है यह फैसला ?

इस घटना के बाद कपूर खानदान के खास लोगों के बीच काफी दिनों से इस मुद्दे को लेकर बहस हो रही थी कि आखिरकार आर के स्टूडियो का भविष्य किस तरह से फिर से सजाया जाएगा. इस मुद्दे पर ऋषि कपूर का कहना था कि हम इस स्टूडियो को नई तकनीक की सहायता से एक बार फिर से पुनः निर्माण करना चाहिए, लेकिन उनके इस विचार से सहमति नहीं जताने वाले बड़े भाई रणधीर कपूर ने साफ तौर पर मना कर दिया था. और अब जाकर पूरे परिवार ने मिलकर यह फैसला लिया है कि आर के स्टूडियो को अब बेच दिया जाएगा.

असली वजह तो ये है !

आर के स्टूडियो को बेचने की पक्की खबर के पीछे की वजह जानने के बाद हमें यह पता चला कि असल में इसके पीछे एक और सबसे बड़ी वजह है. दरअसल पिछले 10 सालों में आर के स्टूडियो में मात्र कुछ ही फिल्मों की शूटिंग हुई है. इसके अलावा या स्टूडियो खाली रहता है क्योंकि ईस्टर्न मुंबई में स्थित यह स्टूडियो अब फिल्मकारों के लिए बहुत ज्यादा पसंदीदा जगह नहीं रहा है. मुंबई में फिल्म कलाकार अब ज्यादातर अंधेरी और गोरेगांव जैसे लोकेशन पर अपनी फिल्मों की शूटिंग करना पसंद करते हैं. इस वजह से आर के स्टूडियो की अहमियत अब पहले जैसी नहीं रही है. यही वजह है कि आर के स्टूडियो को बेचने का फैसला सही माना जा रहा है.