संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ पर मचा बवाल कम होने का नाम नहीं ले रहा ।फिल्म की मुश्किलें कम होने के बजाए लगातार बढ़ रही है । राजस्थान में तो कई संगठनें इसका विरोध कर रही हैं । इस विरोध के चलते कई सिनेमा मालिकों ने फिल्म को अपने सिनेमा घरों में लगाने से मना कर दिया है । एक सिनेमा मालिक ने बताया ” हम किसी विवाद में पढ़ना नहीं चाहते। जब तक फिल्म का मामला सुलझ नहीं जाता हम किसी भी तरह से फिल्म से जुड़ेगें नहीं। मेरे और भी कई साथिओं ने फिल्म से मूँह मोढ़ लिया है ।यह विवाद अब गुजरात, महाराष्ट्र तक पहुँच गया है ।”
दूसरी तरफ तेलंगाना के बीजेपी एम् एल ए ने भी धमकी दी है के अगर फिल्म को वहां रिलीज़ किया तो वो सिनेमा घरों में आग लगा देंगे । गुजरात, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में भी कई संगठनों ने फिल्म पर रोक लगाने की मांग की है ।

Protest against Padmavati
Source: DNAINDIA

शूटिंग के दौरान जयपुर में बवाल

ये भी पढ़िए   करिश्मा कपूर करने जा रही हैं दूसरी शादी? 7 साल बाद पहली पत्नी से ऑफिशली अलग हुए करिश्मा के बॉयफ्रेंड
Protest against Padmavati
Source: DNAINDIA

चित्तौरगढ़ में विरोध प्रदर्शन और करनी सेना फिल्म के पोस्टर जलाती हुई

Padmavati protests
Source: ZEENEWS 

क्या है पूरा विवाद और क्यूँ मचा है बवाल ?
दरअसल कई समूह के लोगों को फिल्म के कई दृश्यों पर आपत्ति है। उनका कहना है के फिल्म ने राजपूत समुदाय के लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है और इतिहास को तोड़ मड़ोड़ के पेश किया है ।
फिल्म की शूटिंग के दौरान जयपुर में करनी सेना नामक एक संगठन के लोगों ने फिल्म की टीम पर हमला कर दिया था ।
देश के उच्च राजपूत संगठन श्री राजपूत सभा ने प्रधान मंत्री मोदी को एक चिठ्ठी लिखी है जिसमे फिल्म पर देश भर में प्रतिबन्ध और भंसाली पर एफ आई आर की मांग की है ।
केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने भी फिल्म के विरुद्ध बोलते हुए कहा “अगर आप एक ऐतिहासिक फिल्म बना रहे हैं तो इतिहास के तथ्यों को बदल नहीं सकते । हम पद्मावती की इज़्ज़त करते हैं और खिलजी से नफरत करते हैं “।
अब देखने वाली बात है के कई जगह से फिल्म पर रोक की मांग उठने के बाद फिल्म रिलीज़ हो पाती है या नहीं ।
आपको यह भी बता दें फिल्म की रिलीज़ डेट 1 दिसंबर है ।

ये भी पढ़िए   राधिका आप्टे से जब पूछा गया आप उस हीरो के साथ सो लेंगी?