वाहन में तेल भराने को लेकर सोशल मीडिया पर वायरल इंडियन ऑयल कंपनी के एक लेटर ने लोगों को असमंजस में डाल दिया है। लोगों को यह नही समझ आ रहा कि वह टंकियों में तेल पूरा भराएं या आधा।

हालांकि वहीं पेट्रोल कंपनियों ने वायरल लेटर को निराधार बताया है और वाहन की टंकी में आटोमोबाइल कंपनियों के तय मानक तक पेट्रोल या डीजल भराने की बात कही है। सोशल मीडिया पर इंडियन ऑयल के नाम से एक लेटर वॉयरल हुआ है।

इसमें कहा गया है कि ‘आने वाले दिनों में तापमान में वृद्धि होना तय है इसलिए अपने वाहन में पेट्रोल अधिकतम सीमा तक न भरवाएं। यह ईंधन टैंक में विस्फोट का कारण बन सकता है। कृपया आप अपने वाहन में आधा टैंक ही ईंधन भरवाएं और एयर के लिए जगह रखें।

ये भी पढ़िए   पहले सरेआम सौतेले बेटे से करवाया रेप फिर दोनों का सिर कलम कर पिया खून

इस हफ्ते पांच विस्फोट दुर्घटनाओं की वजह, अधिकतम पेट्रोल भरने से हुआ है। कृपया पेट्रोल टंकी को दिन में एक बार खोल कर अंदर बन रही गैस को बाहर निकाल दें।’ इसको लेकर लोग अपने टंकी को फुल कराने से बच रहे हैं।

इस बाबत जब इंडियन ऑयल के वरिष्ठ मंडल रिटेल सेल वाराणसी जोन राहुल दीक्षित से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि ऑटोमोबाइल कंपनियों ने वाहन की जो कैपसिटी तेल भराने को लेकर निर्धारित कर रखी है उतना तेल बेझिझक भराया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि टंकियों में कंपनी द्वारा निर्धारित मानक से 15 प्रतिशत तक ज्यादा टंकियों में जगह होती है। उतना काफी है। उन्होंने वायरल पत्र को निराधार बताया।

इस बाबत भारत पेट्रोलिय वाराणसी के प्रादेशिक प्रबंधक रिटेल सुदिप्तो मुखर्जी ने बताया कि पेट्रोल टंकियों को कंपनियों द्वारा निर्धारित मानक तक तेल भरने के बाद एयर आदि के लिए पर्याप्त स्पेस बचता है।

ये भी पढ़िए   PM मोदी के कपडे, पेन और चश्मा के कीमत जानकर होश उड़ जायेंगे !