ऐसी-वैसी औरत, लेखिका अंकिता जैन द्वारा लिखी गे नावेल है. इस किताब के ज़रिये अंकिता ने समाज के उन किरदारों को कागज़ पे उतारा है जो हमारे समाज का हिस्सा होते हुए भी उससे अलग-थलग हैं. बावजूद इसके, यह कहानियां पुरुषों को जरूर पढ़नी चाहिए क्योंकि तभी वह समझ पाएंगे कि ‘ऐसी वैसी औरतें’ असल मे होती कैसी हैं?

‘ऐसी-वैसी औरत’ कहानी है उन 10 औरतों की जिन्हें समाज गन्दी नज़रों से देखता है. इन औरतों को ऐसी गंदगी माना जाता है जिसे अक्सर मिट्टी डालकर छिपाने की कोशिश होती है. इस नावेल में झकखोर के रख देने वाली 10 कहानियां हैं जैसे –
मालिन भौजी, छोड़ी हुई औरत, एक रात की बात, उसकी वापसी का दिन और भंवर एवं अन्य. ऐसी ही एक ‘वैसी’ औरत की कहानी का अंश-

ये भी पढ़िए   सुपरहिट बॉलीवुड फिल्मों के वो विवादित scenes जो आपको कभी दिखाए नहीं गए

‘ऐसी कौन-सी तकलीफ है, ऐसा कौन-सा गुनाह है जिसकी सज़ा वो खुद को लेस्बियन बनाकर दे रही है. ऐसा क्या हुआ होगा उसके साथ, जिसने उसे ऐसा बनने पर मजबूर कर दिया. वो लड़कियां मर्दों की तरफ से कितनी तनहा और रुसवा होती होंगी, जो लड़कियों में दिलचस्पी रखने लगती हैं. शायद अपने आसपास के मर्दों का कोई ऐसा रूप उन्हें इतना तकलीफदेह लगने लगता होगा कि उनके हिस्से का प्यार, जज़्बात भी वो औरतों में ढूंढने लगती हैं. ऐसी ही कोई वजह शैली के साथ भी होगी.’

क्यों पढ़ें ये किताब?
इस किताब में एक बहुत ही बड़ी खूबी है. सरल भाषा में समाज की गंदगी को उजागर किया गया है. और समाज का औरतों के प्रति दुर्व्यहवहार और गलत आचरण आसान पर असरदार शब्दों में कागज़ पे उतारा गया है. हृदय को झकझोर के रख देने वाली ये 10 कहानियां हर किसी के लिए पढ़ने लायक हैं.

ये भी पढ़िए   इंटरनेट पे धमाल करने वाली ऐसी फोटोज जो करदेंगी आपको हसने पे मजबूर
Loading...